Browsing: Environment

देश की राजधानी दिल्ली से 600 किलोमीटर दूर उत्तर प्रदेश के शहर लखनऊ में एक स्थित अग्रसेन नगर कालोनी में एक घर है जिसका क्षेत्रफल लगभग एक हजार स्क्वायर फीट है। इस घर के मालिक सौरभ शुक्ला ने मेहनत और लगन के साथ न सिर्फ खूबसूरती से इस घर को प्राकृतिक तरीके से सजाया है बल्कि और

वर्तमान में मानवीय गतिविधियों के कारण उत्पन्न ग्रीनहाउस गैसों के प्रभावस्वरूप पृथ्वी के दीर्घकालिक औसत तापमान में हुई वृद्धि को वैश्विक तापन/ग्लोबल वार्मिंग कहा जाता है।

हाल ही में आई जलवायु परिवर्तन की रिपोर्ट पर संयुक्त राष्ट्र के अंतर सरकारी पैनल (आईपीसीसी) की रिपोर्ट के मुताबिक कुमाऊं विश्वविद्यालय के प्रोफेसर पीसी तिवारी के शोध पत्रों के मुताबिक  बताया गया है कि हमारे क्षेत्र का तापमान लगातार बढ़ रहा है।2000 से 2010 के बीच 0.2 डिग्री सेल्सियस और 2011 से 2020 तक 0.3 डिग्री सेल्सियस तापमान बढ़ा। जबकि वर्तमान में तापमान 41 डिग्री के पार पहुंच गया।
तापमान और उससे बढ़ने वाली ग्लोबल वार्मिंग के कारण गंगा लगातार प्रदूषित हो रही है और इसके अलावा गंगा की प्रमुख सहायक नदी अलकनंदा के सेटेलाइट चित्रों के आधार पर कहा गया है कि अलकनंदा बेसिन ग्लोबल वार्मिंग की गहरी चपेट में है।